मनरेगा पशु शेड योजना 2023 list, form

मनरेगा पशु शेड योजना 2023 list, form, सूचि चेक करे, फॉर्म/ आवेदन, पात्रता शर्ते

हमारे देश में खेती-बाड़ी के अलावा बड़े पैमाने पर पशुपालन भी किया जाता है. ‌ यह एक तरह से आय का एक प्रमुख साधन भी है जिसके माध्यम से किसान और अन्य लोग पैसे कमाते हैं परंतु अधिकतर पशु पालन करने वाले लोगों की आर्थिक दशा ठीक नहीं रहती और इस वजह से वह पशुओं का ठीक प्रकार से संरक्षण नहीं कर पाते हैं. इसीलिए केंद्र सरकार ने किसानों और पशुपालकों के लिए मनरेगा के अंतर्गत एक नई स्कीम शुरू की है जिसका नाम मनरेगा पशु शेड योजना है. यहां बता दें कि इस योजना के द्वारा पशु पालन करने वालों को उनकी जमीन पर पशु शेड लगाने के लिए वित्तीय फायदा दिया जाएगा. जानकारी दे दें कि यह योजना शुरू में भारत के 4 राज्यों में आरंभ की गई है जो कि बाद में सारे देश में लागू की जाएगी. इस योजना का लाभ किन-किन किसानों एवं लोगों को मिलेगा उसकी जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें.

मनरेगा पशु शेड योजना 2023

बता दें
कि मनरेगा योजना भारत के 4 राज्यों बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य
प्रदेश और पंजाब में लागू कर दी गई है. इस योजना को भारतीय केंद्र सरकार ने लॉन्च
किया है. इस योजना का लाभ किसानों को दिया जाएगा जिसके अंतर्गत उनकी भूमि पर पशुओं
के लिए शेड लगाने के लिए उन्हें वित्तीय मदद दी जाएगी.

नरेगा मेट बनें : सरकार दे रही है मनरेगा योजना के तहत सुपरवाईज़र बनने का मौका.

मनरेगा पशु शेड योजना की मुख्य विशेषताएं (Important Features)

  • योजना का उद्देश्य– इस स्कीम
    को शुरू करने का सरकार का उद्देश्य सभी पशु पालन करने वाले किसानों को वित्तीय
    सहायता देना है ताकि वह पशुओं का ठीक प्रकार से संरक्षण कर सकें.
  • दी जाने वाली सहायता जो लाभार्थी इस योजना के तहत सरकार से लाभ
    लेना चाहते हैं उनको 80 हजार रुपए की मदद दी जाएगी ताकि वह उन पैसों से अपने पशुओं
    के लिए अपनी निजी जमीन पर शेड लगा सकें.
  • अन्य सहायता इस
    स्कीम के द्वारा लाभार्थी को जो वित्तीय मदद दी जाएगी उसका प्रयोग वह पशु शेड
    बनवाने के अलावा फर्श और यूरिनल टैंक बनवाने में भी कर सकते हैं.
  • पशुओं की संख्या अगर कोई
    किसान इस योजना का लाभ लेना चाहता है तो इसके लिए सरकार ने एक शर्त रखी है वह यह
    कि उस किसान के पास तीन पशु होना अनिवार्य है. यहां यह भी बता दें कि अगर किसी
    किसान के पास तीन से ज्यादा पशु है यानी 6 पशु है तो फिर उसे ऐसे में सरकार एक लाख
    60 हजार रुपए की मदद देगी. इसी प्रकार जिन किसानों के पास दो पशु है उनको 75 हजार
    रुपए और जिनके पास चार पशु है उनको 1 लाख 16 हजार रुपए की वित्तीय सहायता दी जाएगी.
  • पशुपालन में शामिल पशु इस स्कीम का लाभ लेने और शेड बनवाने के लिए किसानों के पास भैंस, गाय, बकरी, मुर्गी इत्यादि पशु होने चाहिए.
  • मनरेगा में शामिल लाभार्थी जो भी किसान इस स्कीम का लाभ लेना चाहते हैं उनको इस योजना का फायदा
    मनरेगा के अंतर्गत दिया जाएगा जिसमें उन्हें पैसे ना देकर सरकार अपनी निगरानी में
    शेड निर्माण का काम पूरा करेगी.

मनरेगा पशु शेड योजना के फायदे (Benefits)

  • यह योजना किसानों व पशुपालकों की आय को बढ़ाएगी और इसके तहत गांवों और
    छोटे शहरों में रोजगार में वृद्धि होगी. जान लें कि इस योजना का फायदा पहले आओ
    पहले पाओ के अनुसार दिया जाएगा.
  • इस योजना के तहत लाभार्थी गुणकारी पशु प्रजनन सुविधा का फायदा भी उठा
    सकेंगे.
  • साथ ही यह योजना बकरी पालन और मुर्गी पालन के क्षेत्रों में भी रोजगार
    के अवसरों में बढ़ोतरी करेगी.

मनरेगा जॉब कार्ड सूची में अपना नाम देखें और जानें कितने दिन कम किया और कितना पैसा आया.

मनरेगा पशु शेड योजना पात्रता (Eligibility Criteria)

  • भारत का निवासी यह योजना भारत के उन लोगों के लिए है जो
    भारत के छोटे गांव या शहर में रहते हैं इसलिए लाभार्थी का भारत का निवासी होना
    अनिवार्य है.
  • पशु पालन करने वाले किसान इस स्कीम के तहत हर किसान को लाभ नहीं
    दिया जाएगा क्योंकि यह योजना केवल उन लोगों और किसानों के लिए है जो पशु पालन करके
    अपना जीवन निर्वाह करते हैं.
  • प्रवासी मजदूर भारत के
    गांव में रहने वाले ऐसे युवा जो रोजगार की तलाश में शहर गए थे परंतु लॉकडाउन के
    कारण अब वापस अपने गांव आ गए हैं तो उनको भी इसका लाभ दिया जाएगा.
  • मनरेगा जॉब कार्ड धारक केवल उन्हीं लोगों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा जिनका नाम मनरेगा
    जॉब कार्ड सूची में दर्ज है. इसके अलावा दूसरे लोगों को इस स्कीम का लाभ नहीं दिया
    जाएगा.

मनरेगा पशु शेड योजना में सरकार की कुछ शर्तें

  • मनरेगा योजना के अंतर्गत सरकार पशुपालन के लिए ऐसी जगह पर शेड बनवाएगी
    जो जगह समतल होने के साथ-साथ ऊंची भी हो, ताकि जब बारिश आए तो पानी शेड के अंदर
    नहीं जाने पाए और पशुओं के मल मूत्र इत्यादि की सफाई अच्छी तरह से की जा सके.
  • पशुओं के शेड की जगह ऐसी होनी चाहिए जहां पर धूप पड़ती हो और इसके
    अलावा शेड को लंबाई में उत्तर दक्षिण की तरफ बनाया जाएगा.

मजदूर दिवस क्यों मनाया जाता हैं जानने इसके पीछे का इतिहास.

मनरेगा पशु शेड योजना में आवेदन फार्म

बता दें
कि इस स्कीम का फायदा किसानों या पशुपालकों को सीधे नहीं दिया जाएगा क्योंकि
मनरेगा की देखरेख में किसानों को लाभ दिया जाएगा. जानकारी दे दें कि इसके लिए एक
लिस्ट बनाई जाएगी और उस सूची के अनुसार ही किसानों को लाभ मिलेगा. अगर इससे
संबंधित किसी किसान को कोई जानकारी प्राप्त करनी हो तो वह अपने गांव के निजी
पंचायत में जाकर पता कर सकते हैं.

मनरेगा पशु शेड योजना की सूची चेक करें

अगर लाभार्थी
यह जानना चाहता है कि उसका नाम मनरेगा पशु शेड योजना में दर्ज है या नहीं, तो वह
अपने गांव के पंचायत सूचना बोर्ड में अपना नाम चेक कर सकता है. इससे संबंधित पूरी
लिस्ट अधिकारियों द्वारा सूचना बोर्ड पर लगा दी जाएगी.

पीएम किसान सम्मान निधि योजना : लाभार्थी सूची में अपना नाम ऐसे चेक करें.

दोस्तों
यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको जानकारी दी मनरेगा पशु शेड योजना के
बारे में.

अन्य
पढ़ें –

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *